Biowikivilla.In

Biowikivilla.in

यह 5जी क्या है? 5g के नुकसान ,5G संचार कब होगा?

Spread the love

यह 5जी क्या है?

यह 5जी क्या है, भारत में 5G कब आएगा,5G से क्या नुकसान है,5जी कब लांच होगा,हम लेख में सब कुछ चर्चा करेंगे. 5जी एक सबसे तेज मोबाइल नेटवर्क जो की आपने जनरेशन के लेटेस्ट जेनरेशन है 1जी, 2जी, 3जी, 4जी और फाइनली 5जी। ये आज तक की सबसे तेज नेटवर्क है इंडिया में जिस्को डिजाइन किया गया है बेहतर इंटरनेट स्पीड बेहतर वीडियो कॉलिंग बेहतर इंटरनेट सर्फिंग के लिए।

यह विशेष रूप से लगभग सभी के लिए और हर जगह के लिए डिज़ाइन किया गया है.

रेडिएशन क्या है?

मोबाइल रेडिएशन क्या है, ये सवाल आपके दिमाग में आया होगा ? जब हम किसको कॉल या मैसेज करते हैं तब हमारे फोन से रेडिएशन निकलता है। वही रेडिएशन सैटलाइट के साथ संपर्क करके हमारे कॉल को उस इंसान को फॉरवर्ड करते हैं जिस्का नंबर हम डायल किया था।

और जब हम 5g का इस्तमाल करेंगे तब ये ज्यादा रेडियो फ्रीक्वेंसी को इस्तेमाल करेगा और ज्यादा रेडिएशन निकलेगा जो असल में जानवर और हमारे लिए भी नुक्सान है।

5G का आविष्कार कब हुआ?

दुनिया में पहले बार 5जी नेटवर्क को दक्षिण कोरिया देश ने 2019 अप्रैल में लॉन्च किया था जो अभी दुनिया के हर एक देश के पास जा चुका है, इस 5जी ऑपरेशन में 224 ऑपरेटर हैं जो की 5जी सुविधा कराएंगे। यह सेवा लगभग 88 देशों द्वारा प्रदान की जाएगी और भारत उनमें से एक है।

भारत में 5G नेटवर्क लॉन्च की तारीख?

दूरसंचार विभाग ने घोषणा की है 5G नेटवर्क के सुविधा को वो 2022 तक लगभाग 22 शहरों मैं प्रदान करायेंगे। नई रिपोर्ट के अनुसार भारतअगले साल 5G सेवा की उम्मीद कर रहे हैं क्योंकि हमारे प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की है कि भारत के 75 वें स्वतंत्रता दिवस के साथ अगले वर्ष 5G सेवा प्रदान की जाएगी।

5G नेटवर्क की स्पीड कितनी होती है?

इंडिया में 5जी नेटवर्क के सेबा को रिलायंस जियो पहले लेन वाले है, इसका अनुमान किया जा रहा है, 5जी नेटवर्क अपने पिछले 4जी नेटवर्क से लगभाग 20 गुना तेज होगा।

4जी नेटवर्क की पीक स्पीड था 1जीबी प्रति सेकेंड जहां पे 5जी नेटवर्क की पीक स्पीड होगी लगभग 20जीबी प्रति सेकेंड। 5जी नेटवर्क की मैक्सिमम स्पीड होगी।

5G नेटवर्क का आविष्कार सबसे पहले किस देश ने किया था?

दुनिया में पहली बार 5जी नेटवर्क की तकनीक को पहले दक्षिण कोरिया ने आविष्कार किया था जो की 2019 अप्रैल महीने में। लेकिन आज के समय में हर एक बड़े बड़े देश उसपर काम कर रहे हैं और हर एक देश 5जी के सेबा को देना चाहता है।

भारत में 5G कब आएगा?

5जी कब लांच होगा, 5जी को लेकर बड़े बड़े टेलीकॉम कंपनियां जोर शोर से काम में लग चुके हैं और वो 2022 के आखिरी तक 5जी को भारतीय बाजार में प्रबेश करायेंगे।कुछ कुछ कंपनी ने अपना 5जी सपोर्ट करने वाले स्मार्टफोन लॉन्च भी करदिया है।

इसे पढ़ें

5G नेटवर्क के लाभ?

5जी नेटवर्क के सबसे बड़ा प्रॉफिट है उसमें तेज स्पीड के साथ बेहतर कनेक्टिविटी, कई डिवाइस कनेक्ट होने पर भी स्पीड वही रहेगी। 5जी नेटवर्क टेक्नोलॉजी के साथ हम लाइव 360 वीडियो का एक्सपीरियंस ले सकते हैं, जो की एक लाइव वर्चुअल एक्सपीरियंस होगा।

5जी और 4जी में क्या अंतर है?

5जी नेटवर्क और 4जी नेटवर्क के बीच में सबसे बड़ा अंतर होता है लेटेंसी, जहां 4जी नेटवर्क के लो लेटेंसी था 60 से 98 एमएस वहा पे 5जी नेटवर्क की लो लेटेंसी होगा 1 मिली सेकेंड। 5G नेटवर्क अपने 4G की तुलना में तेज़ और अधिक कुशल है।

5जी कैसे काम करता है?

वायरलेस कम्युनिकेशन सिस्टम अपने इंफॉर्मेशन को रेडियो फ्रीक्वेंसी के हेल्प से हवा मदद से शेयर करता है, 5G नेटवर्क लगभग वेसा ही काम करता है और इससे भी बेहतर।

5g नेटवर्क उसी प्रक्रिया का उपयोग करता है लेकिन तेज़ इंटरनेट स्पीड देने के लिए अधिक रेडियो फ़्रीक्वेंसी का उपयोग करता है और बहुत तेज़ी से सूचना भेज सकता है। यह प्रक्रिया अधिक जानकारी को बहुत तेज गति से ले जाने की अनुमति देती है।

स्मार्टफोन प्रोसेसर को सपोर्ट करने वाला 5G नेटवर्क?

5G नेटवर्क संगत है नवीनतम स्मार्टफोन के नवीनतम प्रोसेसर के साथ, कुछ प्रोसेसर के नाम है स्नैपड्रैगन 690, स्नैपड्रैगन 765, स्नैपड्रैगन 765G, स्नैपड्रैगन 768G, स्नैपड्रैगन 855, स्नैपड्रैगन 865 और स्नैपड्रैगन 865 प्लस के सीरीज़ मे। यह तकनीक इस प्रकार के प्रोसेसर के साथ संगत है जो स्मार्टफोन में होते हैं।

5जी नेटवर्क के नुकसान?

5जी नेटवर्क का सेबा लिमिटेड रहेगा जहान जो लोग गांवों से संबंधित रख्ते है वो इस सेबा का आनंद नहीं ले पायेंगे पर जो लोग शहरों में रहते हैं वो इसका आनंद अच्छे से ले पाएंगे। 5जी नेटवर्क की इस्तमाल हमारे पर्यावरण पर बुरा प्रभाव डालेगा।

5G से क्या नुकसान है? ये सवाल आपके दिमाग में आया होगा, 5जी नेटवर्क में ज्यादा रेडियो फ्रीक्वेंसी, ज्यादा इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडिएशन का इस्तमाल होता है जो जानवरों के लिए अच्छा नहीं होता है, कुछ अन्य अध्ययन ने प्रमाण किया है कि 5जी नेटवर्क के ज्यादा इस्तमाल से हमारे टिश्यू पर अस्थायी हीटिंग इश्यू आएगा। यह 5जी क्या है, और इस्का क्या नुक्सान आपको पता चल गया होगा।

5जी क्यों जरूरी है?

5G नेटवर्किंग तकनीक हमारी कल्पना से परे गति को बढ़ा सकती है और कम प्रयासों के साथ हमारे समय को कम करने की शक्ति रखती है। यह 3डी होलोग्राम, वस्तुतः वास्तविकता, संवर्धित वास्तविकता में भी वृद्धि करता है और लोगों को उतनी ही तेजी से मिलने की अनुमति देता है जितना पहले कभी नहीं था।

हम त्वरित डाउनलोड, अपलोड, 3 डी होलोग्राम, लाइव प्ले जैसे संचालन कर सकते हैं और आभासी दुनिया के अनुभव से परे प्रदान कर सकते हैं जो हमारे जीवन को भी पूरी तरह से बदल सकता है।

5G नेटवर्क के महत्वपूर्ण उपयोग?

यह उच्च गति, कम विलंबता, इंटरनेट पर सर्फिंग की अधिक क्षमता प्रदान कर सकता है जैसा पहले कभी नहीं हुआ। हम अपनी महत्वपूर्ण फाइलों को कुछ ही मिनटों में डाउनलोड और अपलोड कर सकते हैं जो वास्तव में हमारे महत्वपूर्ण समय को बचाती हैं। कार्यालय, स्कूल, कॉलेज, आईटी क्षेत्र, अंतरिक्ष केंद्र उच्च गति की इंटरनेट सुविधाओं के साथ अपनी परियोजनाओं पर शोध कर सकते हैं।

यह स्मार्ट शिक्षण, स्मार्ट होम सुविधाएं, स्मार्ट खेती, स्वायत्त ड्राइविंग, बिना लैगिंग और कम विलंबता के आभासी लाइव अनुभव भी प्रदान कर सकता है।

भारत में 5G नेटवर्क की उपलब्धता.

दूरसंचार विभाग के अनुसार 2022 तक देश भर के 13 प्रमुख शहरों में 5जी नेटवर्क की सुविधा प्रदान की जाएगी। जो लोग गांवों में रहते हैं वे इन 5जी सुविधाओं से दूर हो जाएंगे लेकिन बहुत जल्द वे इसका फायदा भी उठा सकते हैं।

हमारे ब्लॉग पोस्ट यह 5जी क्या है? को पढ़ने के लिए अपना बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद, सुरक्षित रहें स्वस्थ रहें।

Leave a Comment

error: Content is protected !!