Biowikivilla.In

Biowikivilla.in

ब्रेकअप से कैसे निपटें? ब्रेकअप की स्थिति से कैसे उबरें?

Spread the love

ब्रेकअप से कैसे निपटें, प्रेम क्या है?

जब कोई हमारे जीवन में प्रवेश करता है तो वे हमारे लिए पहले नए होते हैं लेकिन जब हम उनके साथ ज्यादा समय बिताते हैं और उनके साथ अपना महसूस करते हैं और फैसला करते हैं कि वह एकमात्र व्यक्ति है जो मेरी भावनाओं को समझ सकता है और मैं उसे बिना किसी झिझक के अपनी दिल की बात बता सकता हूं। फिर हम उनके साथ थोड़ा और मिलते हैं।

और जब हमें उनसे भी उत्तर मिलते हैं, तो हम और भी अधिक घनिष्ठ संबंध महसूस करते हैं। ये भावनाएँ  चरम स्तर पर चली जाती हैं जब हम उनके बिना अधूरा महसूस करते हैं और उन भावनाओं को प्यार कहा जाता है। ब्रेकअप से कैसे निपटें अभी थोड़ा इसके बारे में आपको पता चल गया होगा।

ब्रेकअप क्या होता है ?

जब हम उन पर भरोसा करते हैं जिनसे हमने अपने दिल की बात कह दी है, जब हम इतना नजदिक पाहुंच जाते हैं और हमारे दिल की हर एक बात को उनसे ही बता ते है, आपकी भावनाओं को बताते हैं और जब कोई परिस्थिति आता है, तो वह व्यक्ति हमारी भावनाओं के विपरीत कुछ कदम उठाता है और हमारे दिल को चोट पहुँचाता है। हम से बहुत दूर चला जाता है, तब हम अपने आप को इतना अकेला और असहाय महसूस करते हैं और हमारा दिल टूट जाता है। इसे कहते है दिल टूटना ।

आज कल के नौजवान में ब्रेक अप के बात बहुत कॉमन सी है, हम एक व्यक्ति के साथ उस कदर घोल मिल जाते हैं की हम उनको अपने जीवन का हिस्सा मान लेते हैं, और उनका अचानक हमको छोड़ कर जाना हमें मंजूर नहीं होता और विश्वास नहीं होता की अपना कोई हमें छोड़ कर चला जा रहा है।

तभी हम अंदर से बहुत टूट जाते हैं। यह हमारे जीवन का सबसे संवेदनशील हिस्सा है जब हम वास्तव में सबसे ज्यादा आहत महसूस करते हैं और खुद को दोष देते हैं, खुद को चोट पहुंचाते हैं। 

ब्रेकअप  कब होता है?

ब्रेकअप के कई कारण होते हैं, लेकिन कुछ ऐसे कारण जो मैं आपको बताने जा रहा हूं।

1-जब हमें लगता है कि हमारा साथी अब हमारे रिश्ते के प्रति वफादार नहीं है तो कई संदेह पैदा होते हैं, यही कारण है कि ब्रेकअप हो जाता है।

2-हो सकता है कि जब आपका पार्टनर आपकी जिंदगी में किसी अलग इरादे से आया हो और जब उसका लक्ष्य पूरा हो जाए तो वह आपसे खुद को बचाना चाहेगा, ब्रेकअप का यह भी कारण हो सकता है।

3-कुछ लोग आपके जीवन में सिर्फ आनंद और मनोरंजन के लिए आते हैं जब आपकी जीवन शैली समृद्ध होती है और कुछ दिनों के बाद जब उनका लक्ष्य भरा हुआ दिखाई देगा तो उन्हें ब्रेकअप की भी आवश्यकता हो सकती है जो एक प्रकार का बहाना भी है।

4-कभी-कभी जब हम एक रिश्ता में आते हैं तब हम बहुत अधिकार जताते है अपने पार्टनर को लेकर लेकिन वही हमारे पार्टनर को पसंद नहीं आता है, इस वजह से लंबे समय के बाद वे भी हमारे साथ संबंध तोड़ने की कोशिश करते हैं।

ब्रेकअप के कई कारण हो सकते हैं।

जानिए ब्रेकअप की वजह?

यह इंसान का स्वाभाविक व्यवहार है कि जब हम किसी के साथ भावनात्मक रूप से जुड़ते हैं, तो हमें उनके प्रति लगाब हो जाता है, कभी कभी हमारे दिल में उनके प्रति ज्यादा पागलपन सवार होता है, कभी कभी हम एक रिश्ते में ज्यादा समय रहकर अपने साथी को बहुत महत्व नहीं देते जैसे पिछले दिनो में दिया करते थे,

और उसी तरह दोनो के बिच दूरियां बढ़ जाती है, कई बार हम रिलेशनशिप में होते हुए भी तिस्रे इनसान की प्रवेश से हमारा ध्यान भटक जाता है और फिर हम अपने पार्टनर के प्रति वफादार नहीं होते, कितने बार हम लंबे समय के बाद एक रिलेशनशिप में रहकर बोर सा महसूस करते हैं,

हमें उनके व्यवहार अच्छे नहीं लगते हैं, हम खुद को उनके साथ पहले से बेहतर महसूस नहीं होता है और किसी दुसरे इंसान के प्रति आकर्षित होते हैं उस समय हमारी अशांति हमारे पिछले साथी से शुरू होती है और उनके साथ अनबन सुरू होता है। और हम उनसे छुटकारा पाना चाहते हैं। ये भी है ब्रेकअप की वजह. ब्रेकअप से कैसे निपटें इसके लिए हम ब्रेकअप का कारण निकल ना होगा।

अपने क्रोध और भावनाओं पर नियंत्रण रखें।

हम किसी के साथ बफादार होकर हमारे जिंदगी के ज्यादातर समय जब खर्च करते हैं और वो हम से दूर चला जाता है तो हम अंदर से टूट जाते हैं, तबी हम खुद पर गुस्सा और अपने भावनाओं को नियंत्रित नही कर पाते हैं। यह हर किसी के जीवन में एक बहुत ही स्पष्ट बात है।

एक वयस्क युवक के लिए यह क्षण बहुत महत्वपूर्ण है कि वह इस समय में अपनी भावनाओं और क्रोध को नियंत्रित करना सीखे, उत्साह और होश में कुछ गलत कदम न उठाएं क्योंकि इस उम्र में यह स्थितियां कई बार होती हैं। और यह हमे बर्बाद कर देता है।

तबी ज्यादा भाबुक ना होकर अपने परिस्थितियों को स्वीकार करें  और कुछ सबक सिख कर आगे बढ़े। क्यों की ज्यादा तर हम से क्रोध में लिया हुआ हर एक निर्णय का नतीजा बुरा ही हुआ है, इसलिए गुस्से के समय में कोई भी निर्णय लेने की कोशिश न करें। ब्रेकअप से कैसे निपटें ये तबी संभव होगा जब हम अपने इमोशन्स पर कंट्रोल करना सिख जाएंगे।

अपनी मानसिकता को मजबूत करें।

किसको प्यार एक साल में होता है किसको एक महिन में, पर प्यार हमें तब होगा जब सामने वाले का व्यवहार, उसके गुण हमें प्रभावित करते हैं। हम चरम स्तर से उनके साथ एक महत्वपूर्ण समय बिताने के बाद जब वो हमारे प्यार को ठुकरा कर, हमारे सपनों को तोड़ कर चला जाता है तब हम एकदम पागल सा हो जाते हैं,

हमें भविष्य में और किसके ऊपर भरोसा करना नहीं आता। तबी हम खुदको पूरी तरह खो देते हैं।इस तरह की स्थिति में हमारी मानसिकता में बहुत सारे अवांछित परिवर्तन देखने को मिलाता  है। हम और से बिल्खुल टूट जाते हैं।

हम अपने आपको दोषी मानकर खुद के जीवन को नष्ट करने से पीछे नहीं हटते। पर ये बिलखूल ही गलत बात है, अगर आपके पार्टनर आपके बारे में पहले सोचलिया होता तो वो कभी भी आपको छोड़ कर नहीं जाता। अगर वो चला गया इस्का अर्थ आपके लिए उसके दिल में कभी प्यार नहीं था, इसिलिए प्यार उनसे करो जो आपसे प्यार करते हैं ,

क्योंकि जो आपको प्यार नही करता है वो कभी आपको खुशी नहीं दे सक्ता और उनके साथ आपका कोई भविष्य नहीं है, ना कि होगा। इसलिए अपने मानसिक संतुलन को नियंत्रित करें और स्थितियों की जांच करें, सबक सीखें और आगे बढ़ें।

दोस्तों के साथ खुद को व्यस्त रखें।

अक्सर जब हम अकेले रहते हैं तब हमारे दिल में ना जाने कितने बुरे ख्यालात, बुरे फैसले उठते हैं जो हमें और भी गलत रास्ते पर ले जाता है। अपने सुना होगा खाली दिमाग भूत का घर होता है।

इस स्थिति में बेहतर होगा कि आप अपना हर समय अपने अच्छे दोस्तों के साथ बिताएं ताकि आपका हर समय व्यस्त रहे और आपको कभी भी खुद को दोषी ठहराने और कोई भी गलत निर्णय लेने का मौका न मिले जो आपको नष्ट कर सकता है।

इसिलिए दोस्त भी एसा चुने जो आपके बुरे वक्त में आपको अच्छे अच्छे बात बताए, आपका साथ दे, आपको प्रेरित करे दोस्त ऐसा मत चुने  जो सिरफ आपके अच्छे वक्त का साथी हो। इसलिए दोस्त भी हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा होते हैं और हर किसी की जिंदगी में एक अच्छा दोस्त जरूर होना चाहिए।

उदास चलचित्र और गानों से दूर रहें।

कोई भी इंसान के दिल में अगर कोई परिवर्तन होता है तो उसके लिए उसके आसपास का माहौल जिम्मेदार होते हैं। मतलब अगर हम अच्छे अच्छे बात हर रोज सुनेंगे, देखेंगे तो कहीं न कहीं हमारे दिल में वो असर करने लगेगा, इसिलिए जब हमारा दिल टूट जाता है तब हम उदास गाने उदास फिल्में को ज्यादा देखते हैं, जो हमें अंदर से और भी कमजोर करता है, हमारे आत्मविश्वास को खतम करता है।

यह आपके दुखद समय को ठीक करने का सही तरीका नहीं है। आपको पता होना चाहिए क्यों कोई आपको छोड कर चला गया, किसकी गलती था, अगर उस्ने गलत किया तो आप के हाथ में कुछ नहीं है खुद को दुखी महसूस करने के अलावा। दुखी मत हो, बहादुर बनो और स्थिति का एहसास करो और एक बहादुर आदमी की तरह प्रतिक्रिया करो और आगे बढ़ो।

अपने सुख और दुख का कारण खुद बनो, ये अधिकार किसी और को कभी मत देना, आप अपने मर्जी के मालिक है और आपको आगे बढ़ने के लिए कोई नहीं रोक सकता। ब्रेकअप से कैसे निपटें इसके लिए हमने बहुत सारे फिल्में और गाने सुनते हैं पर यह सटीक समाधान नहीं है। हमें खुद को मजबूत और प्रतिस्पर्धी बनाना चाहिए ताकि हम आगे बढ़ सकें और अपने जीवन को बेहतर बना सकें।

इसे पढ़ें

नकारात्मक लोगों से दूर रहें।

एक व्यक्ति आपको समय देता है, सबसे बुरा व्यक्ति आपको सबक देता है और सबसे अच्छा व्यक्ति आपको यादें देता है। निर्णय आपको करना है जो व्यक्ति आपको छोडकर चला गया उसने आपके जीवन में क्या परिवर्तन किया, क्या मूल्य वर्धित किआ, आपको उनके बारे  में सोचना चाहिए।

एक अच्छा आदमी आपको अच्छे अच्छे बात बोलेगा, आपको आगे बढ़ने की रास्ता दीखायेगा और वहा एक बुरा आदमी आपको खुद के जैसा बुरा बनाने  की कोशिश करेगा, आपके जीवन में एक रुकावत होने की कोशिश करेगा। आप यह तय करने के लिए पर्याप्त परिपक्व हैं कि आप अपने जीवन में किसकी सलाह का पालन करेंगे।

जोखिम उठाएं और जीवन में बदलाव लाएं।

जीवन में कुछ भी नहीं बदलेगा जब तक आप कुछ बदलने की कोशिश नहीं करेंगे। प्रत्येक क्रिया अपनी विपरीत प्रतिक्रियाओं से सीधे जुड़ी होती है। अगर आपका स्थिति खराब है, आपका समय खराब है तो आप उसके लिए जिम्मेदार हैं। आप कुछ तो ऐसा कर रहे हैं जिसके परिणाम आपको असफलता ही मिल रहा है।

उसे सुधारो, अपने आप को बदलिये, थोड़ा जोखिम लेने की कोशिश करो। अगर आप आज भी चुपचाप बैठ कर अपने भविष्य में बदला आने का इंतजार कर रहे हैं न तब आप गलत हो। आप एक जीत के हकदार होंगे जब आप जोखिम उठाकर अपने जीवन में बड़े बदलाव करेंगे।

अपने समय का सदुपयोग करें।

आपको निश्चित रूप से अपने समय का सदुपयोग करना सीखना चाहिए ताकि कुछ दिनों के बाद आप परिणाम प्राप्त करने के हकदार हो सकें। अपने किमती वक्त को फालतू के काम में बर्बाद मत करो, क्योंकि समय ही सब कुछ है, वो टाइम ही है जो किस्मत को बदल देता है, जिन्के पास ज्यादा टाइम होता है उनके पास ज्यादा संभावना और विकल्प  होता है अपने सपनों को सफल करने के लिए।

इसिलिए कभी उदास नहीं होना के आपके पास कुछ नहीं है, मेरे दोस्त भगवान ने भले ही आपको कुछ नहीं दिया है पर आपको समय दिया है, आपको समय इसिलिए दिया है की आप  समय का अच्छा से उपयोग करके अपने जीवन में कुछ नया करें, और जिंदगी को आगे बढ़ाए।

आज भी जो एक सफल इंसान है उनसे पुछना वो अपना हर मिनट अपने काम पे खार्च  किए और आज वो कहां है। यदि आपके पास खाली समय है तो बुद्धिमान बनें और उनका उपयोग करने का प्रयास करें, यह आपके लक्ष्य को प्राप्त करने का एक बड़ा अवसर है।

किसी पर जल्दी भरोसा करें।

भरोसा एक ऐसे चिज है जब होता है तो उन लोगों के लिए हम अपने जान भी कुर्बान करदेते हैं, और अगर भरोसा टूट जाता है तो हम दुनिया के किसी भी इंसान पर दुबारा  भरोसा नहीं कर पाते हैं। इसिलिए एक भरोसामंद इंसान आपको तब मिलेगा जब आप उनके  साथ लंबा समय बीता चुके होंगे। उसे अच्छे से अध्ययन करचुके होंगे उसका प्रकृति, व्यवहार को विश्लेषण करचुके होंगे।

इसमे वक्त जरूर लगता है पर इसमे आपको धोखा मिलने की संभावना भी कम होता है। इसिलिए किसको जल्दी भरोसा मत करो, हो सकता है सामने वाला व्यक्ति आपके भरोसे के पात्र नहीं हो पर आपका दिल तो टूट जाएगा, आप का भरोसा टूट जाएगा ना।

इसलिए कुछ समय के लिए सोचें जब आप किसी पर भरोसा करने जा रहे हों और विश्लेषण करें कि वह व्यक्ति आपके भरोसे का हकदार है या नहीं और किसी को ज्यादा महत्व न दें।

खुद को समय दें।

जीवन में सुख-दुख आते रहते हैं, हम सुख का आनंद लेते हैं और दुख में हम अपना दिल तोड़ देते हैं। लेकिन हम इससे बहुत कुछ सीखते हैं यदि हम स्थिति का विश्लेषण करते हैं तो हम इतने सारे सूत्र सीखते हैं जो हमें फिर से खुश कर सकते हैं और हमारे जीवन में दुख को कम कर सकते हैं।

अपने जीवन की हर स्थिति में सक्रिय रहें। प्रत्येक स्थिति का अध्ययन करें, उस पर ध्यान दें, यदि कुछ गलत हो जाता है, तो उसे ठीक करें, यदि यह सही है, तो इसका और भी अधिक अध्ययन करें और इसे अपने जीवन में लागू करें और आगे बढ़ते रहें।

हमारा मन हर बुरी स्थिति में अस्थिर रहता है और यह सामान्य है। लेकिन हम इस पर नियंत्रण कर सकते हैं, अगर आप इस पर ध्यान देने के लिए कुछ समय निकालें, तो आप एक बेहतर विचार के हकदार बन सकते हैं।

इसमें कोई शक ही नहीं है। ब्रेकअप से कैसे निपटें उसके अलावा लाइफ में बहुत सारे कारण और बहुत सारे लक्ष्य हैं। उस मामले पर ध्यान केंद्रित करें और उस मामले में खुद को गंभीर बनाएं, और आगे बढ़ो।

एक लक्ष्य बनाएं और उस पर ध्यान केंद्रित करें।

हमारे बड़ों हमें कहते हैं बड़े होकर क्या होना चाहते हो, भविष्य में क्या लक्ष्य हैं, तब हम छोटे थे, पर अब हम बड़े हो चुके हैं, अब हम अपना लक्ष्य खुद चुन  सकते हैं और अपने लक्ष्य पर जितना जल्दी काम करेंगे हम अपने लक्ष्य के प्रति उतना नज़दिक जा सकते हैं। आपको सफलता तब जल्द मिलेगी जब आप अपने लक्ष्य की पहचान करोगे, उसे पाने का योजना  जल्दी  बनाओगे, और तभी आप एक बेहतर जिंदगी का पात्र बनोगे।

इसलिए अपना मूल्यवान समय बर्बाद ना करे और लक्ष्य बनाने की कोशिश करे और योजना बनाएं कि उचित रणनीति के साथ यह सब कैसे प्राप्त किया जाए। तो आप जितना जल्दी अपना लक्ष्य तय करोगे आप उतनी जल्दी सफलता का हकदार होंगे.

मानसिकता को सकारात्मक बनाएं।

जीवन में सब कुछ कड़ी मेहनत और निरंतर प्रयास से ही संभव है। बास हमारी मानसिकता सकारात्मक होनी चाहिए, तभी हम हर स्थिति में अच्छी प्रतिक्रिया देकर इसे हासिल कर सकते हैं। जीवन में कुछ भी हासिल करने के लिए एक मजबूत मानसिकता हमेशा महत्वपूर्ण होती है। एक मजबूत मानसिकता से हमें अच्छी स्थिति में आने का मौका मिलता है और हम आसानी से परिस्थितियों से बाहर निकल आते हैं।

किसी भी परिस्थिति  मैं हार जीत अलग बात है, पर आपने मानसिकता को मजबूत कर लिया है तो आप पहले से ही जीत जाते हैं, लोग कहते हैं अगर आपको लगता है कि आप इसे कर सकते हैं तो निश्चित रूप से आप इसे कर सकते हैं। यह सब आपकी मानसिकता पर निर्भर करता है। हम जीवन में बहुत कुछ सीखते हैं और भविष्य में भी सीखते रहेंगे।

कोई अगर आपके साथ वफादार नहीं है तो वो उसकी गल्ती है ना की आपकी गल्ती, इस बात को समझे, अगर आप कभी भी गलत व्यक्ति को अपने जीवन से नहीं जाने देंगे तो आपको सही व्यक्ति कभी नहीं मिलेगा।

विश्वास करो कि सब कुछ भगवान की इच्छा से होता है और सब कुछ भगवान की इच्छा से भी होगा। अगर आपके साथ कुछ बुरा हो रहा है तो उसे सहन करो, क्योंकि क्या पता भगवान आपकी इम्तेहान ले रहे होंगे की अगर ये इंसान यह इम्तेहान से खड़े उत्तर जाता है तो वो एक अच्छे जिंदगी का हकदार होगा। इसलिए मानसिक और शारीरिक रूप से परिपक्व बनें, खुद पर विश्वास करें और सब ठीक हो जाएगा। 

आज हमने ब्रेकअप से कैसे निपटें विषय पर चर्चा की है और इस मामले को कैसे दूर किया जाए। हमें उम्मीद है कि हमने आपको विषयों के बारे में पर्याप्त जानकारी प्रदान की है। इस मामले पर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारी साइट WWW.Biowikivilla.in पर जाएँ। सुरक्षित रहें और स्वस्थ रहें।

Leave a Comment

error: Content is protected !!